यूपी बोर्ड में हिंदी में 8 लाख बच्चे फेल,उठ रहे सवाल

0
818
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

लखनऊ: हिंदी भाषी राज्य उत्तर प्रदेश में यूपी बोर्ड 2020 के परीक्षा फल विशेषज्ञों के लिए चिंता का सबब बन गए हैं क्योंकि बोर्ड की हिंदी की परीक्षा में करीब 8 लाख बच्चे फेल हो गए हैं।

फेल होने पर उठ रहे सवाल-

हिंदी भाषी राज्य में ही हिंदी की इस दुर्दशा पर विशेषज्ञ चिंतित हैं। इतनी बड़ी संख्या में बच्चों के फेल होने के पीछे के कारण तलाशे जा रहे हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक यूपी बोर्ड में हिंदी पाठ्यक्रम अन्य बोर्डो से ज्यादा कठिन है क्योंकि सिलेबस में अवधी-ब्रज भाषा, लेखक और उनकी रचनाएं शामिल होती है। यह सभी प्राचीन भाषाएं हैं जो अब चलन में नहीं है। ऐसे में बच्चों को समझने में काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता है।

क्या कह रहे हैं विशेषज्ञ-

विशेषज्ञों का मानना है कि इन प्राचीन भाषाओं के अध्यापन के लिए विशेषज्ञ शिक्षकों की जरूरत है जबकि यूपी में तमाम स्कूलों में आम शिक्षक ही मौजूद नहीं है। राजकीय शिक्षक संघ प्रदेश अध्यक्ष पारसनाथ पांडेय का कहना है कि प्रदेश में राजकीय कॉलेजों की संख्या 2,383 है। इनमें कुल 7 हजार शिक्षक ही कार्यरत है जबकि 18 हजा पद खाली हैं।इन खाली पड़े पदों में 1300 हिंदी के शिक्षकों के पद हैं। राजधानी लखनऊ में ही हिंदी के शिक्षकों के कुल 80 पद खाली पड़े हैं। विशेषज्ञ हिंदी की दशा सुधारने पर सुझाव देते हुए कहते हैं कि हिंदी के अध्यापकों को विशेष ट्रेनिंग दी जाए व हर महीने परीक्षा कराई जाए। इसके अलावा घर पर माता-पिता बच्चों से हिंदी में ही बातचीत करें।

यूपी बोर्ड के रिजल्ट पर नजर-

हाई स्कूल में कुल 30,24,480 छात्र-छात्राएं पंजीकृत है जिनमें 27,72,656 बच्चे परीक्षा में शामिल हुए। जिसमें 23,09,802 बच्चे यानी 83.31 फ़ीसदी बच्चे उत्तीर्ण हुए। जिस में भी 79.88 फ़ीसदी लड़के व 87.29 फ़ीसदी लड़कियां हैं। इस बार बड़ौत के श्रीराम एसएम इंटर कॉलेज की छात्रा रिया जैन ने 96.67 फ़ीसदी अंकों के साथ टॉप किया।

वहीं, इंटरमीडिएट में कुल 25,86,339 छात्र-छात्राएं पंजीकृत है जिसमें 24,84,479 ने परीक्षा दी। कुल 18,54,099 यानी 74 .63 फ़ीसदी बच्चे पास हुए। इसमें 68.88 फ़ीसदी लड़के और 81.96 फ़ीसदी लड़कियां हैं। यहां भी बड़ौत के श्री राम एसएन इंटर कॉलेज के अनुराग मालिक ने 97 फ़ीसदी नंबरों से टॉप किया।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here